म्यूचुअल फंड एजेंट कैसे बनें ( mutual Fund Agent Kaise Bane .) 

म्यूचुअल फंड एजेंट कैसे बनें ( mutual Fund Agent Kaise Bane .)


म्यूच्युअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर कैसे बनें ( Mutual Fund Distrubuter kaise Bane )


क्या आप म्यूचुअल फंड एजेंट या म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर कैसे बनें के बारे में जानना चाहते हैं । Mutual fund agent kaise bane के बारे में सोच रहे हैं तो आप सही पोस्ट  पढ़ रहे हैं । इस पोस्ट को पढ़ने के बाद म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री में म्यूचुअल फंड एजेंट / डिस्ट्रीब्यूटर की क्या भूमिका है और कैसे बनें के बारे में सारी जानकारी मिल जाएगी..


म्यूचुअल फंड एजेंट कौन होता हैं ( Mutual Fund Distrubuter kya hota hai )


म्यूचुअल फंड एजेंट और म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर अभी के समय में एक ही व्यक्ति को कहा जाता हैं। म्यूचुअल फंड एजेंट या म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर ऐसे व्यक्ति को कहा जाता हैं जो  AMFI के म्यूचुअल फंड सलाहकार परीक्षा को पास कर खुद को एक म्यूचुअल फंड सलाहकार के रूप में AMFI पर रजिस्टर्ड हों। 


एक म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर या एजेंट अपने क्लाइंट को किस म्यूचुअल फंड में निवेश करना चाहिए सलाह देता हैं। एक म्यूचुअल फंड एजेंट का काम होता हैं की क्लाइंट के पैसे को फंड में निवेश कराए की ज्यादा मुनाफा हो दे..


म्यूचुअल फंड एजेंट के कार्य ( म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर के कार्य . Work Profile of Mutual Fund Agent )


• एक रजिस्टर्ड म्यूचुअल फंड एजेंट या डिस्ट्रीब्यूटर अपना क्लाइंट बनाता है जो म्यूचुअल फंड में निवेश करें ।


• क्लाइंट को सही फंड की जानकारी देना ।


• क्लाइंट के जरूरत और रिस्क फैक्टर के अनुसार उसका निवेश करवाना ।


• म्यूचुअल फंड रिसर्च करना और समय समय पर फंड से रिलेटेड जानकारी से अपडेट रहना ।


• क्लाइंट के इन्वेस्टमेंट को मैनेज करना ।


• क्लाइंट को mf के नए फंड के बारे में बताना 


• क्लाइंट को ज्यादा से ज्यादा मुनाफा वाले फंड में निवेश करवाना जिससे एक क्लाइंट दूसरे को आकर्षित करे और क्लाइंट बेस ज्यादा से ज्यादा हो और इस तरह से आपका कमीशन बड़े ..


म्यूचुअल फंड एजेंट exam yogyta  ( म्यूचुअल फंड डिस्ट्रिब्यूटर exam yogyta )

Mutual Fund Agent Kaise Bane ?

दोस्तों म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर या एजेंट बनने के सबसे पहले तो AMFI एग्जाम को क्लियर करना होगा जो नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ सिक्योरिटी मार्केट करती हैं। इस परीक्षा में बैठने के लिए निम्न योग्यता होना चाहिए ।


• उम्मीद्वार का उम्र कम से कम 18 साल और शैक्षणिक योग्यता कम से कम 12th होना चाहिए।


• ऐसे उम्मीदवार जो 10 के बाद 3 साल का डिप्लोमा डिग्री हो वो भी परीक्षा में सामिल हो सकते हैं।


म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर बनने के फायदे ( Mutual Fund Agent Banane ke Fayade )


म्यूचुअल फंड एजेंट बनने से सबसे बड़ा फायदा होता हैं की इसमें आपके एक बार क्लाइंट बनने में मेहनत लगता हैं फिर उसके बाद म्यूचुअल फंड के सलाह दो और अपना कमीशन लो ।


• यह काम कोई भी व्यक्ति कर सकता है फुल टाइम या पार्ट टाइम जिससे वह अपना एक एक्स्ट्रा इनकम बना सकता हैं ।


• म्यूचुअल फंड एजेंट चाहे तो अपना काम बिजनेस की तरह कर सकता हैं या चाहे तो पार्ट टाइम 


• किसी भी जॉब या नौकरी में एक निश्चित वेतन मिलता हैं लेकिन एजेंट के रूप में आप अपने काम के अनुसार पैसे कमा सकते है । आप जितना काम करते हैं उतना आपका कमीशन मिलता हैं ।


म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर कैसे बनें पूरी जानकारी ( Mutual Fund Agent Kaise Bane )

 ( all about related to how to become mutual fund Agent in Hindi )


म्यूचुअल फंड एजेंट बनने के लिए सबसे पहले अभियार्थी को  NISM Series 6 A परीक्षा पास करना होता हैं । इसके लिए आधिकारिक वेबसाइट certifications.nism.ac.in/ पर जा कर खुद को रजिस्टर्ड करें । इस परीक्षा  का फीस 1500 रूपये का भुगतान करना पड़ता हैं।  Nism परीक्षा के पूरे देश में 150 से ज्यादा सेंटर है जिसमे से एक आप अपने अनुसार चुन सकते हैं। इस परीक्षा के लिए रजिस्टर्ड करने के बाद अन्य जानकारी उम्मीदवार के ईमेल पर भेज दी जाती हैं । परीक्षा गाइडलाइन वेबसाइट पर जा कर देख सकते है।



• ऑनलाइन आवेदन करने के 24 घंटे के बाद वेबसाइट पर जा कर स्टडी मैटेरियल डाउनलोड कर सकते है आप चाहे तो अपने सुविधा अनुसार दूसरे स्टडी मैटेरियल की भी पढ़ाई भी कर सकते हैं । इस परीक्षा में 100 अंक के 100 प्रश्न होते है जिसमे से पास करने के लिए 50% अंक लाना होता हैं । इस परीक्षा में अभियार्थी को 2 घंटे का समय मिलता हैं ।


इस परीक्षा को पास करने के बाद अभियार्थी को सर्टिफिकेट मिलता हैं जो की 3साल तक मान्य होता हैं इसके बाद फिर से संबंधित परीक्षा को पास करना होता हैं ।


• अब जब आप परीक्षा को पास कर चुके हैं तो अगला कदम AMFI से ARN नंबर लेना । ARN नंबर लेने के लिए AMFI के आधिकारिक वेबसाइट पर अप्लाई कर सकते हैं । म्यूचुअल फंड एसोसिएशन से ARN नंबर मिलने के बाद आपके पास म्यूचुअल फंड बेचने और म्यूचुअल फंड सलाह देने का लाइसेंस मिल जाता हैं ।


• लाइसेंस और ARN कार्ड लेने में पुन: 1500 रूपये लगाते हैं ।

• अब आप एक म्यूचुअल डिस्ट्रीब्यूटर बन चुके हैं  यहां से आपके पास दो रास्ते खुलते हैं जिसमे से कोई भी रास्ता चुन कर सक्सेसफुल म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर / agent बन सकता हैं ।


• अपने से म्यूचुअल फंड हाउस या म्यूचुअल फंड कंपनी या एसेट मैनेजमेंट कंपनी के साथ एग्रीमेंट  बनाना की हम आपका म्यूचुअल फंड बेचना चाहते हैं । यहां आप बहुत सारे एसेट मैनेजमेंट कंपनी के साथ एग्रीमेंट बनाना होता हैं ताकि सभी लोगो से अनुसार एक सही म्यूचुअल फंड की सलाह दे सके । 


इस तरीके में आपके म्यूचुअल फंड रिसर्च करना , एक वेबसाइट , एक apps की भी जरूरत पड़ती हैं जहां से आपके क्लाइंट अपना इन्वेस्टमेंट ट्रैक कर सकें । 


• दूसरा तरीका यह है की मार्केट में जो भी बड़े म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर हैं उसके साथ पार्टनर शिप कर म्यूचुअल फंड सलाह दे । इससे आपके म्यूचुअल फंड रिसर्च करना , वेब पेज मैनेज करना, apps मैनेज  करना, इन्वेस्टमेंट पोर्टफोलियो को मैनेज करना काम आपका कंपनी कर देती हैं आप सिर्फ क्लाइंट बनाते हैं या क्लाइंट को म्यूचुअल फंड सलाह देते हैं ।


म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर बन कर कितना कमा सकते है ?


एक म्यूचुअल फंड agent अपने काम के अनुसार पैसे कमा सकता हैं । इस करियर प्रोफाइल में सुरु के दिनों में बहुत ही कम कमीशन मिलता हैं लेकिन जैसे जैसे क्लाइंट बेस ज्यादा  होता हैं वैसे वैसे इनकम लाखो में हो जाती हैं ।  अगर आप एजेंट का काम पार्ट टाइम करते हैं तो भले ही कम इनकम मिले लेकिन अगर बिजनेस के रूप में करते हैं तो बहुत पैसे कमा सकते है ...


दोस्तों मैने इस करियर गाइड लेख में म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर कैसे बनें ?, म्यूचुअल फंड एजेंट कैसे बने ( mutual fund agent kaise bane ) के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की । फिर भी आपको कोई जानकारी चाहिए तो आप मुझे कॉमेंट में लिख सकते हैं ...


Post a Comment

Don't Share personal information..
अपना सवाल पूछे...

Previous Post Next Post